इस वजह से बेहद करीबी होने के बावजूद पृथ्वीराज कपूर ने पंडित नेहरू से मिलने से कर दिया था साफ़ इनकार

0
79
पृथ्वीराज कपूर

सिनेमा जगत में अपना अभूतपूर्व योगदान देने वाले मशहूर अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के बारे में शायद ही कोई ऐसा होगा जिसे इनके बारे में ना पता हो। इन्होने हिंदी सिनेमा में एक से बढ़कर एक फिल्में बना कर दी हैं। ‘विद्यापति’ (1937), ‘जिंदगी’ (1964), ‘आसमान महल’ (1965), ‘आवारा’ (1951), ‘तीन बहूरानियां’ (1968), ‘दहेज’ (1950), ‘सिकंदर’ (1941), हीर रांझा (1970), ‘कल आज और कल’ (1971) और ‘चिंगारी’ जैसी तमाम फिल्‍में पृथ्वीराज कपूर अभिनीत हैं।

फिल्‍म ‘मुगल-ए-आजम’ में बादशाह अकबर का किरदार निभानेवाले पृथ्‍वीराज कपूर की हाल ही में 29 मई को पुण्यतिथि मनाई गयी थी। इन्हें फिल्म जगत से जुड़ा एक से बढ़कर एक कई नामी सम्मान भी मिला है। वर्ष 1969 में पृथ्‍वीराज कपूर को पद्म भूषण अवॉर्ड से सम्‍मानित किया जा चूका है तथा इसके अलावा इन्हें दादा साहब फाल्‍के पुरस्‍कार से भी नवाजा गया था। बताते चलें की पृथ्वीराज कपूर आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू के काफी करीबी बताये जाते थे।

सिनेमा जगत में अपनी बेमिसाल अभिनय कला से तो उन्होंने सम्पूर्ण देशवासियों का दिल जीता हुआ था। बात जब दोस्ती-यारी की आती थी तो इस मामले में वो पंडित जी के भी प्रिय बन गए थे। आपको बता दें की पृथ्वी राज बॉलीवुड जगत के पहले ऐसी हस्ती थे जो राज्यसभा में मनोनीत होकर संसद पहुंचे थे। ऐसी में पृथ्वी राज और नेहरु की दोस्ती और भी ज्यादा गहरी हो गई थी।

मगर एक वाकया ऐसा भी हुआ था जब इतनी घनिष्ट मित्रता होने के बावजूद एक दफा जब पंडित नेहरु पृथ्वीराज से मिलने पहुंचे थे तो यह खबर पा कर खुश होने की बजाय उनसे मिलने से साफ इनकार कर दिया। अब उन्होने ऐसा क्यों किया, ऐसी क्या वजह थी कि जो अभिनेता ने प्रधानमंत्री के आमंत्रण को नकार दिया। हालाँकि बाद में इस बात का खुलासा हुआ कई आखिर क्यों अभिनेता पृथ्वी राज को ऐसा करना पड़ा।

असल में अभिनेता पृथ्वी राज कपूर ने पंडित नेहरु से मिलने से मना क्यों किया इसके पीछे वजह ये है कि उस वक़्त पृथ्वीराज अपनी थिएटर टीम के साथ काम कर रहे थे। हालाँकि जब प्रधानमंत्री नेहरु को सुचना मिली कि वो अभी उनसे नहीं मिल सकते हैं तो पंडित नेहरू पूरा मामला समझ गए थे। बाद में नेहरु जी ने पृथ्वीराज को दावत ओअर बुलाया था जिससे वो काफी खुश भी हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here