17 साल की खुशी ने रचा इतिहास, UNEP ने बनाया ब्रांड एंबेसडर, इनकी सोच जानकर 100फीसदी मिलेगी प्रेरणा

0
174
inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep

युनाइटेड नेशन्स एन्वायरमेन्ट प्रोग्राम यानि UNEP चुन्जा इको जनरेशन ने सूरत की ख़ुशी चिंदालिया को अपना ब्रेंड एंबेसडर चुना है। दरअसल पर्यावरण संरक्षण संबंधित खुशी के विचारों से प्रभावित होकर UNEP ने उन्हें भारत के लिए एंबेसडर चुना है। बता दे खुशी सिर्फ 17 साल की है।

इतनी कम उम्र की ख़ुशी को पर्यावरण के संरक्षण में उनके योगदान के लिए भारत का हरित राजदूत नामित किया जाना सिर्फ उनके परिवार के लिए ही नहीं बल्कि देश के लिए गर्व की बात है। खुशी के इस करनी से देश के युवाओं को बड़े स्तर पर प्रेरणा मिलती है।

inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep
social media

गुजरात के सूरत में रहती है खुशी

गौरतलब है कि 17 साल की खुशी गुजरात के सूरत की रहने वाली है। ख़ुशी चिंदलिया बताती है कि उन्हें पर्यावरण से बहुत प्यार है। उन्हें अपने आस-पास हरियाली भरा वातावरण रखना बेहद पसंद आता है। जब हम शहर में अपने इस नए घर में आए तो हमारे घर के आस-पास काफी हरियाली थी और यहां फलों के पेड़ भी थे। लेकिन बदलते वक्त के साथ वह सब खत्म होने लगे। हरियाली सूखे जंगलों में बदलने लगी। यह सब देखकर मै परेशान होने लगी।

inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep
social media

बहन नहीं देख पायेगी प्रकृति की सूंदरता…

मुझे आज भी याद है कि मेरे घर के पास चीकू के पेड़ थे, जिस पर कई पक्षी रहा करते थे। हमारा घर उस दौरान चारों तरफ से प्रकृति से घिरा हुआ था। वहां पक्षियों की काफी चहचहाट होती थी, लेकिन जैसे-जैसे मैं बड़ी होती गई, मैने देखा कि सब खत्म हो गया। ऐसे में मुझे हमेशा यह महसूस होता कि जो कुछ मैने देखा, प्रकृति की जो खूबसूरती मैने देखी मेरी छोटी बहन वह सुंदरता ना देख पायेगी और ना ही उसका आनंद ले पाएगी।

inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep
social media

लोगों को प्रकृति के प्रति किया जागरूक

मुझे यही चिंता होने लगी, तभी मैने फैसला किया कि मैं प्रकृति की सुंदरता को बचाने के लिए काम करूंगी और लोगों को इसके बारे में अधिक से अधिक जागरूक भी करूंगी। फिर मैंने अपने इस फैसले पर धीरे-धीरे काम करना शुरू किया। इस दौरान सबसे पहले मैंने अपने आसपास के पर्यावरण की रक्षा करने के तरीकों को तलाश करना शुरू कर दिया।

inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep
social media

यही कारण है कि खुशी के इसी प्रकृति प्यार और लगाव के चलते बेहद कम उम्र में एक बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। बता दे कि 17 साल की ख़ुशी चिंदलिया को संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम ने भारत के लिए क्षेत्रीय राजदूत यानी रीजनल एंबेसडर (RA) के तौर पर नियुक्त किया है। बता दे अब तक सबसे कम उम्र में इस पद पर नियुक्त होने वाली खुशी पहली सदस्य है।

inspirational-story-of-17-year-old-girl-khushi-chindaliya-appointed-as-regional-ambassador-for-india-by-unep
social media

खुशी ने बताया कि वह अपना ज्यादातर समय पर्यावरण पर काम करते हुए बिताती है। वह आगामी फरवरी 2021 तक TEG के साथ विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों पर काम करेगी और लोगों को प्रकृति के प्रति जागरूक करेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here