एक बार फिर दिखी सोनू सूद की दरियादिली, मजदूरों के बाद अब केरल में फंसी लड़कियों को करवाया एयरलिफ्ट

0
155
सोनू सूद

दक्षिण भारतीय अभिनेता सोनू सूद की दरियादिली अब किसी से भी छिपी नहीं रह गई है। भयंकर महामारी के दौरान कई हजार लोगों के लिए मसीहा बनकर उभरे इस अभिनेता ने मदद की वह मिसाल पेश की जिसके बारे में कम ही लोग सोच पाते हैं। उन्होंने प्रवासी मजदूरों की मदद करने का सिलसिला जो शुरू किया है, वह अब तक रुका नहीं है और लगातार नए नए प्रयासों से उनकी मदद कर रहे है।

बताते चलें कि सोनू अभी तक हजारों गरीब मजदूरों को बसों तथा अन्य साधनों से उनके घर भेज रहे थे लेकिन अभी ताजा जानकारी के अनुसार उन्होंने मदद की एक नयी मिसाल पेश कर दी। बताया जा रहा है कि उन्होंने केरल में फंसी करीब 177 लड़कियों को कोरोना संकट में एअरलिफ्ट करवाया। यह सभी लड़कियां एर्नाकुलम की एक सिलाई फैक्ट्री में लॉकडाउन लागू हो जाने के बाद से फंसी हुई थी और उनके पास घर वापस जाने के लिए कोई विकल्प नहीं था।

बताया जाता है कि अभिनेता सोनू सूद को भुवनेश्वर से उनके किसी दोस्त ने इन लड़कियों के बारे में जानकारी दी। उसके बाद सोनू सूद तत्काल एक्शन में आये और तमाम जरूरी प्रक्रियाओं को पूरी करने के बाद इन्हें कोच्चि से भुवनेश्वर लाया गया। यहां पर एक बार फिर से सोनू सूद ने अपने खर्चे पर बेंगलुरु से एक स्पेशल एयरक्राफ्ट का प्रबंध किया और इन सभी लोगों को उनके गांव पहुंचाया गया।

निश्चित रूप से सोनू सूद एक अभिनेता तो है ही मगर बेहद नेक दिल इंसान भी हैं, अब तक उन्होंने खुद के पैसों से तमाम गरीबों की मदद की है और उन्हें उनके घर सुरक्षित पहुंचाने में काफी मदद की है। कुछ दिनों पहले ही उन्होंने एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया था और इसकी जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर दी थी, ताकि ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंद लोगों से संपर्क कर पाए और वह उन सभी लोगों की हर संभव कोशिश कर पाए।

फिल्मों में अक्सर विलेन की भूमिका में नजर आने वाले सोनू सूद रियल लाइफ में रियल हीरो बन कर सामने आये हैं। यक़ीनन इतना बड़ा काम करने के लिए सिर्फ पैसा ही नही बल्कि बड़ा दिल भी चाहिए। सोनू बताते हैं कि उन्हें यह नहीं पता वह कितने लोगों की मदद कर पाएंगे, मगर जहां तक संभव होगा हम अपनी पूरी कोशिश करेंगे और देश के तमाम गरीब मजदूरों को जो लॉकडाउन में फंसे हैं उन्हें उनके घर तक पहुंचाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here