केजरीवाल का बदला मिजाज, लोकसभा चुनाव के बाद नहीं किए मोदी विरोधी ट्वीट

0
72
Delhi Cm Kejriwal With Narendra Modi
Image Source- Social Media

लोकसभा चुनाव के दौरान अप्रैल और मई में अपने ट्विटर में कम से कम 20 बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम ले चुके दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव के बाद मोदी-विरोधी ट्वीट करना बंद कर दिया है। केजरीवाल ने 15 अप्रैल से 15 मई तक जहां अपने ज्यादातर हिंदी में किए ट्वीट्स में 21 बार पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का नाम लिया, वहीं उन्होंने मोदी और मोदी सरकार के खिलाफ भी कई ट्वीट किए। इतना ही नहीं हमलावर रुख अख्तियार करते हुए आम आदमी पार्टी (आप) ने मोदी और पाकिस्तान के बीच रिश्ते पर प्रश्न तक पूछ लिया।

केजरीवाल ने न सिर्फ मोदी, बल्कि कई बार बीजेपी और नई दिल्ली में उसके लोकसभा प्रत्याशियों पर ट्विटर से जमकर हमले किए। आपको बता दे, केजरीवाल के ट्विटर पर 1.56 करोड़ फॉलोवर हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि मोदी दिल्ली में आप सरकार को कमजोर करने के लिए उनके विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रहे हैं। एक ट्वीट में उन्होंने अमित शाह पर हमला करते हुए कहा था कि ‘चुनाव के बाद शाह गृहमंत्री बन जाएंगे।’ और हुआ भी कुछ बैसा भी, कई मायनो में केजरीवाल की राजनैतिक भविष्यवाणी सही साबित हुई।

ट्विटर पर नरम पड़े केजरीवाल

Delhi Cm Arvind Kejriwal
Image Source- Social Media

लेकिन लोकसभा चुनाव के बाद केजरीवाल में बदलाव देखा जा सकता है। मुख्य बात यह थी कि केजरीवाल के मोदी-विरोधी ज्यादातर ट्वीट्स हिंदी में थे और मोदी पर हमला करते हुए उन्होंने उन्हें कभी टैग नहीं किया। हालांकि चुनाव के बाद उन्होंने मोदी के संबंध में चार ट्वीट किए और सभी ट्वीट अंग्रेजी में किए, जिनमें दो बार उन्होंने मोदी को ट्वीट भी किया। लोकसभा चुनाव के बाद चार ट्वीट्स में पहला ट्वीट मोदी के चुनाव जीतने पर उन्हें बधाई देने वाला था।

केजरीवाल ने 23 मई को ट्वीट किया, “मैं नरेंद्र मोदी को ऐतिहासिक जीत के लिए बधाई देता हूं और दिल्ली की जनता की भलाई के लिए उनसे सहयोग की उम्मीद करता हूं।” इसके बाद दूसरा ट्वीट उन्होंने 20 जून को किया, जब दोनों नेताओं की मुलाकात हुई।

Image Source- Social Media

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली और केंद्र सरकार को साथ काम करना होगा, क्योंकि उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी के विकास के लिए दिल्ली सरकार का पूरा सहयोग करने का आश्वासन दिया है। शेष दो ट्वीट्स में मोदी ने केजरीवाल को उनके जन्मदिन पर और केजरीवाल ने मोदी को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। केजरीवाल में यह बदलाव काफी रोचक है, क्योंकि आप और मोदी सरकार के बीच फरवरी 2015 में केजरीवाल के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही तनाव रहा है। केजरीवाल मोदी सरकार और उसकी नीतियों के खिलाफ काफी मुखर रहे थे।

बदल गए आप प्रमुख केजरीवाल

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कहा कि आप प्रमुख बदल गए हैं, क्योंकि ‘केजरीवाल समझ गए हैं कि जनता मोदी के साथ है।’ बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा, ‘रंग बदलने में माहिर लोग मौसम के अनुसार ही काम करेंगे। उन्हें (केजरीवाल और AAP) एहसास हो गया है कि मोदी के खिलाफ खड़े होने का समय नहीं है। लेकिन लोग होशियार हैं। वे केजरीवाल की योजना जानते हैं।’

आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि जब मोदी पहली बार प्रधानमंत्री चुने गए थे तो “मुख्यमंत्री (केजरीवाल) और उप मुख्यमंत्री (मनीष सिसोदिया) उनसे मिलने गए थे। मुख्यमंत्री केंद्रीय मंत्रियों से मिलते रहे हैं, यह नई बात नहीं है कि केजरीवाल केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करने की कोशिश कर रहे हैं।” भारद्वाज ने कहा कि पार्टी और केजरीवाल मोदी और केंद्र सरकार के साथ सकारात्मक संवाद करना चाहते हैं। खबर सोर्स: NDTV India

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here