यूपी: मुस्लिम पुलिस अफसर ने ‘शिव मंदिर’ में जलाभिषेक कर निभाई वर्षों पुरानी परंपरा

0
212
Up Bareilly News in Hindi

धर्म, मजहब, जात-पात से पहले होता है कर्तव्य और भाई चारा। यहीं भारतीय संस्कृति की पहचान भी है। इसी तरह की नियत और सोच रखने बाले सच्चे भारतीय मिशाल पेश करते है। ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के वरेली जिले में स्थित एक थाने में देखने को मिला। देश में भाई चारे की मिशाल पेश करते हुए एक मुस्लिम पुलिस ऑफिसर (Police Officer) ने न सिर्फ कांवड़ियों का स्वागत किया बल्कि मंदिर में शिवलिंग पर जलाभिषेक करके धर्म के ठेकेदारों की बोलती भी बंद कर दी है।

जी हां, यूपी पुलिस (UP Police) में तैनात एक मुस्लिम पुलिस ऑफिसर जिन्होंने शिवलिंग पर जलाभिषेक कर भाई चारे की नींब को और भी मजबूत किया। यूपी पुलिस के इस सब इंस्‍पेक्‍टर के लिए मजहब से पहले फर्ज आता है। मंदिर के पुजारी भी हैरान रह गए जब दशकों पुरानी परंपरा निभाने के लिए एसआई जावेद खान ने हरियाली तीज के मौके पर स्‍थानीय शिव मंदिर में जल चढ़ाकर पूजा-अर्चना की।

विस्तृत घटनाक्रम

बरेली के भमोरा थाने में तैनात मुस्लिम एसओ जावेद खान की इस पहल की न सिर्फ पुलिस विभाग में बल्कि हर ओर प्रशंसा हो रही है। मंदिर के पुजारी भी हैरान रह गए जब दशकों पुरानी परंपरा निभाने के लिए एसआई जावेद खान ने निभाते हुए, स्‍थानीय शिव मंदिर में जल चढ़ाकर पूजा-अर्चना की।

जावेद खान भमोरा पुलिस स्टेशन के स्टेशन ऑफिसर हैं। आपको बता दे, इससे पहले शनिवार को हरियाली तीज के अवसर पर यहां कांवड़ियों को जल चढ़ाना था इसकी शुरुआत जावेद खान ने शिवलिंग पर जल चढ़ाकर की थी। जावेद खान ने मंदिर के पुजारी अशोक शर्मा से इसकी मंजूरी ले ली थी।

दरअसल बरेली को नाथ नगरी के नाम से भी जाना जाता है। लाखों कावड़िये बदायूं के कछला गंगा घाट से गंगा जल लेकर शिव मंदिरों पर जलाभिषेक करने जाते हैं। ऐसे में साम्प्रदायिक दृष्टि से यूपी के सबसे संवेदनशील जिले बरेली में भमोरा थाने के एसओ जावेद खान की पहल गंगा-यमुनी तहजीब की धार्मिक सहिष्णुता और सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा का मिजाज अंकित रही है।

ऑफिसर ने निभाई वर्षों पुरानी परंपरा

एसओ जावेद खान का कहना है कि इस बार थाने में तैनात पुलिसकर्मियों को लग रहा था कि इस बार तो थाने में मुस्लिम एसओ हैं, तो वर्षो पुरानी परंपरा कैसे निभेगी। भमोरा थाने की परंपरा है कि वहां के एसओ जलाभिषेक करते हैं और कांवड़ियो को फल फूल देकर उनका स्वागत करते हैं।

ऐसे में एसओ जावेद खान ने कहा कि हमने सभी पुलिसकर्मियों से कहा कि वो चिंता न करें, हम मुस्लिम हैं तो क्या हुआ? उन्होंने कहा कि हमारे धर्म से पहले हमारा कर्तव्य है। इसी कर्तव्य के तहत मैं वर्षों पुरानी परंपरा को निभाऊंगा और मंदिर में जलाभिषेक भी करूंगा। साथ ही कांवड़ियों का स्वागत भी करूंगा।

बता दे, एसओ जावेद खान के इस कदम को लेकर सोशल मीडिया से लेकर आम जन तक खूब प्रशंशा हो रही है। लोगो का कहना है, कि एसओ जावेद खान ने हिन्दू मुश्लिम भाई चारे को पेश कर सौहार्द बिगाड़ने बाली नापाक ताकतों के मुंह पर जोरदार तमाचा मारा है। उनके इस कदम से देश भर में एक नया संदेश जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here