सदन में बना इतिहास, मात्र 3 घंटे में पास हो गये ये 7 बिल

0
123
social media
social media

संसद के उच्च सदन राज्यसभा में 22 सितंबर का दिन ऐतिहासिक दिन साबित हुआ। इस दिन राज्यसभा में मात्र तीन घंटों में सात बिलों पर मुहर लग गई। इन बिलों में तिलहन, खाद्य तेल, दालें, आलू, अनाज और प्याज को आवश्यक वस्तु की श्रेणी से हटाने वाला बिल भी पास हो गया है।

बता दें कि बीते दिनों सदन की गरिमा को ठेस पहुंचाने के चलते आठ सांसदों के निलंबन के बाद कई विपक्षी सांसदों ने सदन से दूरी बनाई रखी है। इस बीच इन सातों बिलों पर निर्विरोध पास हो गए। बता दें कि ससंद के निम्न सदन लोकसभा में पहले ही इन सातों बिल पर मुहर लग चुकी है।

बता दें कि सपा, कांग्रेस, एनसीपी, टीएमसी और वामदलों के सांसदों ने बहिष्कार की वजह से सदन में भाग नहीं लिया। ऐसे में सदन में इन बिलों पर चर्चा के दौरान बीजेपी और उसके सहयोगी पार्टी जेडीयू , बीजू जनता दल, अन्नाद्रमुक, टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस ही मौजूद थे। इन सभी दलों ने सरकार के इन बिलों का खुलकर समर्थन किया।

इन सभी बिलों को पास कराने के लिए सदन की कार्यवाही के समय में एक घंटे की बढ़ोतरी की गई। बता दें कि सदन में तकरीबन एक घंटे तक सस्पेंड किए गए सांसदों के आचरण पर चर्चा की गई।

इन बिलों पर लगी मुहर

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान विधि (संशोधन) बिल-2020। राष्ट्रीय रक्षा यूनिवर्सिटी बिल-2020
,कराधान एवं अन्य कानून (निश्चित प्रावधानों में रियायत एवं संशोधन) बिल-2020, आवश्यक वस्तु (संशोधन) बिल-2020। इसके तहत भंडारण सीमा को खत्म किया गया है। कृषि संबंधी दो बिल रविवार को पास हुए थे। बैंक नियमन (संशोधन) बिल-2020। जमाकर्ताओं के हितों की रक्षा के लिए सहकारी बैंकों को आरबीआई की निगरानी में लाया जाएगा। कंपनी संशोधन विधेयक-2020 भी पास हुआ। नेशनल फोरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी बिल-2020

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here