3 साल की मासूम को बचाने के लिए ललितपुर से भोपाल तक नॉनस्टॉप पटरी पर दौड़ी ट्रेन, जानें पूरा मामला

0
128

उत्तर प्रदेश में ललितपुर रेलवे स्टेशन पर 3 साल की बच्ची की जान बचाने के लिए एक ट्रैन को नॉनस्टॉप पटरी पर दौड़ाया गया. इस बीच ट्रैन किसी भी स्टेशन पर नहीं रुकी सिवाए भोपाल के. भोपाल पहुंचते ही बच्ची को भी बचा लिया गया.

दरअसल, ललितपुर रेलवे स्टेशन से एक 3 साल की बच्ची का किडनैप हो गया था. किडनैपर बच्ची को लेकर भोपाल की तरफ जा रही राप्तीसागर एक्सप्रेस में सवार हो गया. इस बात का पता तब चला जब बच्ची के परिवार वाले ललितपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे.

बता दें, बच्ची के सभी परिवार वालों ने रेलवे स्टेशन पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई कि उनकी बच्ची रेलवे स्टेशन से ही लापता हो गई है तो आए आरपीएफ ने रेलवे स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज के जरिए पता लगाया कि कैसे एक युवक उस 3 साल की बच्ची को गोद में लेकर भोपाल की तरफ जा रही राप्तीनगर एक्सप्रेस में सवार हो गया और जब तक आए आरपीएफ इस पूरे मामले को समझ पाती तब तक बच्ची का किडनैप हो चूका था और किडनैपर उसे लेकर फरार हो गया था.

इसके बाद तुरंत ही एक्शन लेते हुए झांसी में आरपीएफ के इंस्पेक्टर ने ऑपरेटिंग कण्ट्रोल भोपाल को किडनैपिंग की सूचना दी. उन्होंने राप्तीसागर एक्सप्रेस को ललितपुर से लेकर भोपाल के बीच किसी भी स्टेशन पर ट्रैन के ना रोकने का फैसला लिया.

ऑपरेटिंग कण्ट्रोल भोपाल ने राप्तीनगर एक्सप्रेस को ललितपुर से भोपाल के बीच ना रोकने का फैसला इसीलिए लिया था ताकि, किडनैपर बीच में ही किसी स्टेशन पर बच्ची को लेकर ना उतर जाए. इस दौरान भोपाल रेलवे स्टेशन पर किडनैपर को दर-दबोचने की प्लानिंग चल रही थी. जैसे ही ट्रैन स्टेशन पर पहुंची, आरपीएफ और जीआरपी के अफसरों ने किडनैपर को ट्रैन में खोज निकाला.

आरपीएफ के सुब इंस्पेक्टर रविंद्र सिंह की सूझबूझ के चलते किडनैपर को पकड़ लिया गया और उस मासूमबच्ची को बचा लिया गया. यह इंडियन रेलवे का शायद से पहला ऐसा मौका था जब ट्रैन को नॉनस्टॉप पटरी पर उतारा गया हो. फिलहाल, बच्ची को सही सलामत उसके परिवार वालों को सौंप दिया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here