क्या Nepal के द्वारा तैयार नक़्शे को संयुक्त राष्ट्र इस्तेमाल करेगा?

0
84

Nepal द्वारा तैयार किया गया नया नक्शा जिसमे अधिकांश भारतीय क्षेत्रों को Nepal में दिखाया गया हैं, राष्ट्र संघ उसका इस्तेमाल नहीं करेगा।संयुक्त राष्ट्र केपी शर्मा ओली के नेतृत्व वाली Nepal सरकार द्वारा जारी किए गए ‘नए’ मानचित्र का उपयोग नहीं करेगा। Nepal द्वारा कथित तौर पर भारत और दुनिया के बाकी हिस्सों को भेजे जाने वाले नए नक्शे के अनुसार, कई भारतीय क्षेत्रों को Nepal की सीमा के तहत दिखाया गया है।

हालाँकि, यह मानचित्र यूएन द्वारा उपयोग नहीं किया जाएगा क्योंकि संयुक्त राष्ट्र अपने स्वयं के नक्शे प्रिंट करता है और किसी भी व्यक्तिगत देशों के नक्शे का उपयोग नहीं करता है।संयुक्त राष्ट्र के सभी मानचित्र एक नोटिस के साथ आते हैं, जिसमे कहा जाता है की ‘जो सीमाएँ और नाम दिखाए गए हैं और इस नक्शे पर जिन पदनामों का उपयोग किया गया है, वे संयुक्त राष्ट्र द्वारा आधिकारिक समर्थन या स्वीकृति नहीं देते हैं।’

संयुक्त राष्ट्र भारत या पाकिस्तान या यहां तक ​​कि दक्षिण एशिया के नक्शे के चीन के संस्करण का उपयोग नहीं करता है। संयुक्त राष्ट्र के मानचित्रों में इस चीज को ज्यादा महत्व दी जाती है कि संयुक्त राष्ट्र के मानचित्रों में इस चीज को ज्यादा महत्व दी जाती है कि कोई देश सिर्फ दावे न कर के किसी क्षेत्र पर असल में प्रशासन कर रहा है। नया नेपाली नक्शा लिंपियाधुरा, लिपुलेख और कालापानी के भारतीय क्षेत्रों को अपने हिस्से में दिखाता है। भारत ने नेपाल के कार्यों का कड़ा विरोध करते हुए इसे “एकतरफा” कहा, जो कि “अनुचित” है।

यहां ध्यान देने वाली महत्वपूर्ण बात यह है कि Nepal द्वारा इसके पहले ऐतिहासिक रूप से जारी किए गए नक्शों में इन क्षेत्रों पर कभी दावा नहीं किया गया था ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here