थानेदार बेटे का शव देखते ही मां को लगा गहरा सदमा, मौत, अब एक साथ उठेगी अर्थी

0
504

बिहार के किशनगंज के थानेदार अश्वनी कुमार की मौत के बाद अब उनकी मां ने भी दम तोड़ दिया है। बिहार के किशनगंज के नगर थानाध्यक्ष अश्वनी कुमार की जिले की सीमा से सटे पश्चिम बंगाल के पांजीपाड़ा थाना क्षेत्र में अपराधियों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

अश्वनी की मां उर्मिला देवी यह सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाईं और रविवार को हार्ट अटैक से उनकी भी मौत हो गई।

बेटे की मौत से गहरे सदमे में थीं

बिहार के किशनगंज के थानेदार अश्वनी कुमार की मौत के बाद उनकी मां अपने बेटे की मौत से गहरे सदमे में थीं। जिसके बाद उन्होंने भी दम तोड़ दिया। रविवार को दोपहर दो बजे मां और बेटे का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

शहीद अश्विनी कुमार की मां उर्मिला देवी पटना में बहू मीनू स्नेहलता और बच्चों के साथ रहती थी। दिवंगत थानाध्यक्ष के पिता महेश प्रसाद यादव सेवानिवृत्त शिक्षक थे, जिनका देहांत कुछ साल पहले हो गया। अश्विनी कुमार दो भाइयों में बड़े थे। छोटा भाई प्रवीण कुमार उर्फ गुड्डू है।

इंस्पेक्टर अश्विनी कुमार के तीन बच्चे -दो बेटी और एक बेटा है। दोनों बेटियां बड़ी है। शहीद की मां हृदय रोगी थीं, इस कारण उन्हें बेटे की मौत के बारे में पहले नहीं बताया गया था। शनिवार की देर रात उन्हें इस घटना की सूचना दी गई और रविवार सुबह उनकी मौत हो गई।

थानेदार के साथ मॉवलिन्चिंग

अश्वनी कुमार हाल ही में बंगाल के पनतापारा गांव में एक अपराधी को पकड़ने पहुंचे थे। यहां पहुंचने पर थाना प्रभारी ने कहा कि ओडीओ उनके साथ जाएगा। इसके बाद अश्वनी से ओडीओ ने बोला कि आप जाइए, हम आते हैं।

ऐसे में अश्वनी कुमार गांव अकेले ही पहुंच गए। इसके बाद गांव वालों ने लाठी, डंडे और पत्थर से पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी थी। मामला सामने आने के बाद किशनगंज के एसपी कुमार आशीष ने सर्किल इंस्पेक्टर समेत 7 अन्य पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया था।

इन लोगों को अश्वनी कुमार को भीड़ के बीच अकेला छोड़ने के आरोप में यह कार्रवाई की गई है।

आरोपियों को किया गया गिरफ्तार

किशनगंज जिले के थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार की हत्या के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया। पकड़े गए अभियुक्तों में फिरोज आलम, उसका भाई अबुजार आलम और इनकी मां सहीनुर खातुन शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक, फिरोज इस घटना का मुख्य आरोपी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here