Home हिंदी न्यूज़ हाँथ में बेटे शादी का कार्ड लेकर रोते रहे माता पिता, ऐसे...

हाँथ में बेटे शादी का कार्ड लेकर रोते रहे माता पिता, ऐसे दी शहीद बेटे को अंतिम विदाई

0
27519
major chitresh singh bisht last rites

जम्मू-कश्मीर के रजौरी जिले में नौशेरा सेक्टर के पास आईईडी बम डिफ्यूज करते वक्त मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हो गए थे। शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट (Major Chitresh Singh Bisht) को देहरादून में अंतिम विदाई (Major Chitresh Singh Bisht last Rites) दी गई। अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए। इस दौरान शहीद चित्रेश अमर रहे, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगते रहे। मेजर चित्रांश की 7 मार्च को शादी होने वाली थी। परिवार शादी की में लगा हुआ था तभी शहादत की खबर आई।

major chitresh singh bisht last rites
Image Source- Social Media

कश्मीर में शनिवार को आईईडी विस्फोट में शहीद हुए मेजर चित्रेश बिष्ट की सात मार्च को शादी होनी थी। शादी के लिए होटल बुक किया जा चुका था। रिटायर इंस्पेक्टर पिता सुरेंद्र सिंह बिष्ट कार्ड बांटने में व्यस्त थे। लेकिन शनिवार शाम बेटे की शहादत की खबर आते ही पूरा परिवार सन्न रह गया। पूरे घर पर कोहराम मच गया। आसपास के दुख की घड़ी में बिष्ट परिवार को ढांढस बंधाने घर पर पहुंचे। परिवार अब सेहरा बांधने आ रहे बेटे के बजाय अब ताबूत में तिरंगे में लिपट कर आने का इंतजार कर रहा है।

major chitresh singh bisht last rites
Image Source- Social Media

28 फरवरी को आने वाले थे घर : मेजर चित्रांश को शादी के लिए 28 फरवरी को घर आना था। उन्होंने मां से कहा था कि नई साड़ी लाऊंगा, उसी को शादी में पहनना। यह इच्छा भी अब कभी पूरी नहीं हो पाएगी। नौसेरा सेक्टर में शहीद हुए मेजर चित्रेश बिष्ट को उनके दोस्त और भाई टाइगर कह कर बुलाते थे। बताते हैं कि शहीद बहुत बहादुर और निडर थे।

major chitresh singh bisht last rites

सोमवार को सैन्य अस्पताल से उनकी पार्थिव देह को घर ले जाया गया, जिसके बाद मेजर चित्रेश बिष्ट के माता-पिता हाथ में बेटे की शादी का कार्ड लेकर रो रहे थे।

शादी के लिए 28 को आने वाले थे घर

शहीद चित्रेश के पिता एसएस बिष्ट शनिवार को गांव में शादी के कार्ड भेजने के लिए आईएसबीटी गए थे। कुछ दिन पहले उनसे चित्रेश ने बात की थी, वह 28 को घर आने वाले थे। शादी को लेकर लंबी बातचीत हुई कि अब क्या-क्या काम बाकी रह गया।

major chitresh singh bisht last rites

पिता ने मेजर चित्रेश की शादी के भिजवा दिए थे कार्ड

major chitresh singh bisht last rites

पिता एसएस बिष्ट रानीखेत स्थित गांव निमंत्रण पत्र भेजने के लिए आईएसबीटी गए थे। जहां से किसी जान-पहचान वाले के हाथों कोर्ड भिजवा भी दिए थे।

शेरवानी और सूट भी तैयार

major chitresh singh bisht last rites

मेजर चित्रेश पिछले महीने ही घर आए थे। उन्होंने ज्यादातर खरीदारी भी कर ली थी। शेरवानी से लेकर शूट तक तैयार कर लिया गया था। जब वे दो फरवरी को वापस ड्यूटी लौटे, तो मम्मी, पापा को से कहकर गए थे कि बस कार्ड बांट लेना। बाकी बाजार के काम मेरे आने के बाद कर लेंगे। विवाह स्थल होटल सेफ्रोन लीफ में कहां क्या होना है यह सब चित्रेश तय कर चले गए थे। बैंडबाजा बुक कर लिया था।

चित्रेश का अंतिम संस्कार आज

major chitresh singh bisht last rites

परिजनों ने बताया कि चित्रेश का अंतिम संस्कार आज किया जाएगा। उनका पार्थिव शरीर कल रविवार को देहरादून लाया गया था। चित्रेश के विदेश में नौकरी करने वाले भाई के पहुंचने के बाद अंतिम संस्कार किया जाएगा।

दुश्मनों से बदला लेने दोबारा आएगा चित्रेश

major chitresh singh bisht last rites
मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट के माता-पिता

शहीद चित्रेश के पिता एसएस बिष्ट को ढाढस बंधाने गांव से बड़े भाई पहुंचे। वह ढाढस देते हुए कहने लगे, हम तो पुलिसवाले रहे हैं, ये सब देखा है। अब खुद को संभाल, लेकिन पिता फफक-फफक कर रोने लगे। इस पर एसएस बिष्ट के बड़े भाई ने उन्हें कहा कि सोनू फिर आएगा, किसी न किसी रूप में आएगा। वह दुश्मनों का बदला लेगा। लेकिन पिता एक ही बात करते रहे, अब यह सब बकवास है। कुछ नहीं जो जाना था, वह चला गया।

जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर शहीद मेजर चित्रेश को श्रद्धांजलि दी

भारत-पाकिस्तान सीमा पर नियंत्रण रेखा के करीब आईईडी ब्लास्ट में शहीद हुए देहरादून निवासी मेजर चित्रेश बिष्ट का पार्थिव शरीर रविवार दोपहर सेना के विशेष विमान से जौलीग्रांट एयरपोर्ट लाया गया। इसके बाद उनके पार्थिव शरीर को सैनिक सम्मान के साथ मिलिट्री हॉस्पिटल देहरादून ले जाया गया। .

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here