पैसे के लिए अस्पताल ने शव ले जाने से रोका, तो करना पड़ा चंदा इक्कट्ठा

0
298
raj hospital

राज अस्पताल में सोमवार को मरीज की मौत के बाद प्रबंधन ने पैसे के लिए शव ले जाने से रोक लिया। जब बात नहीं बनी तो परिजनों ने चंदा इकट्‌ठा कर 44 हजार रुपए कर्ज लेकर रकम चुकाई। इसके बाद भी अस्पताल प्रबंधन का दिल नहीं पसीजा और 10 हजार कम होने की बात कहकर शव ले जाने से रोक दिया।

परिजनों का आरोप था कि आयुष्मान भारत योजना का कार्ड होने के बाद भी 54 हजार का बिल वसूल किया गया है। मृतक का नाम अमर सिंह था। वे सिंह मोड़ में रहते थे। हटिया रेलवे कैंटीन में काम करते थे। उन्हें चक्कर आने की शिकायत थी।

जिस इंसान का शव अस्पताल प्रबंधन ने रोका उसका नाम अमर सिंह था और वह सिंह मोड़ के रहने वाले थे। अमर सिंह हटिया रेलवे कैंटीन में काम करते थे। अमर सिंह को चक्कर आते थे। अमर सिंह के साथ रमेश सिंह काम करते थे और उन्होंने बताया कि बीते रविवार रात को जब उनका एमआरआई कराना था तो उन्हें राज अस्पताल लेकर आए थे।

मृतक के साथ रहने वाले रमेश सिंह ने बताया कि रविवार की रात अमर का एमआरआई कराने के लिए राज अस्पताल लेकर आए थे। इस दौरान उन्हें हार्ट अटैक आया। अस्पताल में भर्ती किया और इलाज के दौरान मौत हो गई। अमर के पास आयुष्मान भारत का कार्ड भी था। मृतक के परिजन और आस-पास मौजूद लोगों से चंदा जुटाया, तब परिजन शव ले गए।

बता दें कि आयुष्मान भारत का कार्ड अमर सिंह के पास था लेकिन अस्पताल ने तब भी उन्हें बिल दे दिया था। अमर सिंह के शव को लेने के लिए परिवार वालों ने आस-पास के लोगों से चंदा मांगा उसके बाद अस्पताल वालों ने परिवार वालों को शव दिया था।

इस मामले में राज अस्पताल के प्रबंधक योगेश गंभीर ने बात करते हुए कहा कि पैसों पर किसी भी तरह का विवाद नहीं है। अमर सिंह की मौत के बाद उनकी पत्नी ने कहा था कि वह सब लोग शव को रात में ले जांएगे और अब तक शव को मॉर्चरी रख दिया था। उसके बाद परिवार वाले सुबह आए और इलाज में खर्च हुए पैसे देकर अमर सिंह का शव ले गए।

अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि मरीज के परिवार वालों ने कोई भी शिकायत नहीं की थी। अमर सिंह का ओपीडी में एमआरआई हुआ जो कि आयुष्मान में कवर नहीं है। अस्पताल में आयुष्मान भारत या फिर किसी दूसरे बीमा योजना केलिए एक फार्म भरवाया जाता है। अमर सिंह के परिवार वालों से यह बीमा भरवाया गया था लेकिन वह इसे भरने भी आच्छादित नहीं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here