NEET-PG परीक्षा स्थगित, MBBS फाइनल ईयर के स्टूडेंट्स होंगे ड्यूटी पर तैनात: PMO

0
151

कोरोना महामारी के चलते देश के हालात हर दिन बद-से-बदतर होते जा रहे हैं। देश में लगातार संक्रमितों की संख्या का आंकड़ा बढ़ रहा है। वहीं हर दिन मौत का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है। कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 से लड़ने के लिए चिकित्सा कर्मियों की उपलब्धता में बढ़ोतरी करने का फैसला लिया है।

सराकर ने अपने इस फैसले के तहत Neet-PG परीक्षा को कम से कम 4 महीने के लिए स्थगित कर दिया गया है। पीएमओ ऑफिस की ओर से जारी किए गए बयान के मुताबिक एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्र को फैकल्टी की देखरेख में टेलीकंसल्टेशन और हल्के कोविड-19 के मामलों की निगरानी के लिए उपयोग किया जाएगा। साथ ही सीनियर डॉक्टर्स और नसों की देखरेख में बीएससी जीएनएम की योग्य नर्से भी पूर्णकालिक कोविड-19 में काम करेंगे।

पीएमओ की ओर से जारी इस बयान में यह कहा गया है कि वे चिकित्साकर्मी जिन्होंने कोविड-19 में 100 दिन पूरे कर लिए हैं, उन्हें प्रतिष्ठित कोविड राष्ट्रीय सेवा सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ ही कोविड-19 पर 100 दिन पूरा करने वाले चिकित्सा कर्मियों को नियमित सरकारी भर्तियों में प्राथमिकता दी जाएगी।

प्रतीकात्मक तस्वीर

मेडिकल इंटर्न अपने फैकल्टी की देखरेख में कोविड मैनेजमेंट ड्यूटी पर तैनात किए जाएंगे। बता दे पीएमओ की ओर से यह फैसला देश के लगातार बिगड़ते हालातों पर काबू पाने और स्वास्थय व्यवस्थाओं को और अधिक दुरूस्त करने के लिए लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here