युवाओं को प्रेरित करती है नर्गिस और सुनील दत्त की प्रेम कहानी, पहली बार में नहीं कर पाए थे बात

0
91
नर्गिस और सुनील दत्त

सुनील दत्त और नरगिस की जोड़ी बॉलीवुड की अब तक की सबसे बेहतरीन जोड़ी रहीं हैं, दोनों ही अपने समय के मशहूर कलाकार रह चुकें हैं। नरगिस जी जिस तरह से फिल्मों में अपनी जीवंत भूमिका निभाने के लिए जाने जाते थी ठीक उसी प्रकार वास्तविक जिंदगी में भी वो बिल्कुल वैसी ही थी। पर कहते हैं ना कि अच्छे लोगों को भगवान अपने पास बहुत जल्दी बुला लेता हैं वैसा ही इनके साथ भी हुआ था।

महज 51 वर्ष की आयु में इन्होंने दुनिया छोड़ दी थी, आज हम आपको सुनील दत्त और नरगिस के लवस्टोरी कैसे शादी में बदल गई वो बताने जा रहें हैं। ये उन दिनों की बात हैं जब सुनील दत्त साहब एक रेडियो स्टूडियो में रेडियो जॉकी का काम करते थे, उन दिनों नरगिस जी एक बहुत बड़ी फिल्म कलाकार थी। एक दिन दत्त साहब को नरगिस जी का इंटरव्यू लेने को कहा गया लेकिन वो काफी ज्यादा नर्वस हो गए थे।

जब उन्होंने इंटरव्यू शुरू किया तो घबराहट के मारे वो नरगिस जी से कुछ भी सवाल नहीं कर पाए। इन दोनों की अगली मुलाकात ‘दो बीघा जमीन’ के सेट पर हुई थी, इसके बाद दोनों के दिलों में एक-दूसरे के लिए प्रेम जागृत होने लगा था। सुनील दत्त साहब नरगिस जी को दिल ही दिल में चाहने लगे थे और शायद नरगिस जी भी उन्हें चाहने लगीं थी लेकिन पहले से शादीशुदा होने के कारण वो कुछ भी बयां कर पाई थी।

नरगिस जी की पहले शादी राजकपूर साहब से हो रखी थी लेकिन 9 साल तक उनके साथ रहने के बाद उन्हें ऐसा लगने लगा कि शायद राज साहब उनका ध्यान नहीं रख पा रहें हैं इसलिए उन्होंने राजकपूर साहब से अलग होने का निर्णय ले लिया था। उसके बाद दत्त साहब नरगिस जी से बेहद प्यार करने लगे थे और उन्होंने नरगिस जी को शादी के लिए प्रोपोज कर दिया था।

बड़ी दिलचस्प बात हैं कि असल जिंदगी में पति-पत्नी सुनील दत्त और नरगिस जी ने मदर इंडिया में मां-बेटे का किरदार निभाया था और ये तो हम सब जानते हैं कि इस फिल्म ने हिंदी सिनेमा में कितनी धूम मचाई थी। इन दोनों ने 1958 में बिल्कुल शांत तरीके से दोनों ने शादी कर ली जिसकी औपचारिक घोषणा इन्होंने 1959 में की, परंतु उस समय नरगिस कैंसर की बीमारी से जूझ रही थी और कैंसर से लड़ते हुए ही वो जिंदगी की जंग हार गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here