किसान के बेटे हैं IPS शिवदीप लांडे, गरीबों में दान कर देते हैं अपनी आधी कमाई

0
908
shivdeep waman lande

वो कहते हैं न कि अगर देश में नौकरशाही दुरूस्त हो तो वहां की कानून व्यवस्था भी काफी दुरूस्त होती है। वैसे आपको बता दें कि जिस तरह से भ्रष्टाचार का दीमक नौकरशाही को खोखला किए जा रहा है, लोगों का उससे विश्वास उठता जा रहा है। पर आज भी इस समय में कुछ ऑफिसर ऐसे हैं जो कि अपनी ईमानदारी के वजह से जाने जाते हैं। उनमें से एक हैं शिवदीप वामन लांडे। जी हां ये पेशे से IPS अफसर हैं।

image source:Socialmedia

जानकारी के लिए बता दें कि महाराष्ट्र के अकोला जिले के परसा गांव में एक किसान परिवार में जन्मे शिवदीप वामन लांडे साल 2006 बैच के IPS अफसर हैं। इतना ही नहीं ये भी बता दें कि ये दो भाई हैं जिनमें से शिवदीप बड़े हैं। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने मुंबई में रहकर UPSC की तैयारी की थी। इसके बाद उन्होंने भारतीय राजस्व विभाग में भी नौकरी की थी। इसी बीच उनका UPSC में चयन हो गया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शिवदीप की शादी महाराष्ट्र के मंत्री विजय शिवतारे की बेटी ममता से हुई है। एक दोस्त के घर पर आयोजित पार्टी में शिवदीप और ममता की पहली मुलाकात हुई। यह मुलाकात आगे चलकर पहले प्यार में बदल गई। इसके बाद दोनों ने 2 फरवरी 2014 को शादी कर ली। दोनों की एक बेटी भी है ममता ने मुंबई में ही पढ़ाई किया है।

image source:Socialmedia

शिवदीप की पहली पोस्टिंग मुंगेर के नक्सल प्रभावित क्षेत्र जमालपुर में हुई थी। जब वे पटना के एसपी बने, तो पटना में अपने कार्यकाल के दौरान अपनी अनोखी कार्यशैली की वजह से शिवदीप पूरे देश में मशहूर हो गए।

लेकिन दूसरी ओर ये अपराधियों की आंखों में खटकने लगे। इसलिए उनका बार-बार ट्रांसफर किया जाता रहा। अब वह महाराष्ट्र वापस जाने की तैयारी कर रहे हैं। इस वक्त वे अपने गृह-राज्य महाराष्ट्र में नियुक्त हैं। निजी जिंदगी में वे बहुत नम्र स्वभाव के हैं।

पटना से जब उनका अररिया ट्रांसफर हो गया तो भी लोगों की दीवानगी उनके प्रति कम नहीं हुई है। लड़कियों के फोन और एसएमएस उनको आने लगे। इस पर शिवदीप का कहना है, ‘लोगों का भरोसा मुझ पर है, इसलिए वे मुझे फोन या एसएमएस करते हैं। मीडिया उन्हें ‘दबंग’ पुलिस अधिकारी की छवि जरूर दी है, लेकिन वह दबंग नहीं हैं।’

image source:Socialmedia

बताया जाता है कि शिवदीप लांडे अपनी ड्यूटी पर जितना सख्त नजर आते हैं, वह उतने ही विनम्र हैं। वह अपनी सैलरी का 60 फीसदी हिस्सा एनजीओ को दान कर देते हैं। इतना ही नहीं इसके अलावा कई सामाजिक कार्यों में भी वह सहयोग करते हैं। उन्होंने कई गरीब लड़कियों की सामूहिक शादी भी करवाई है। लड़कियों की सुरक्षा के लिए काम किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here