उसैन बोल्ट से भी तेज दौड़ा यह युवक, आनंद महिंद्रा ने की तारीफ तो खेल मंत्री बोले देंगे ट्रेनिंग

0
419
karnataka young man srinivasa gowda now being compared to jamaican sprinter usain bolt

कर्नाटक में पिछले दिनों हुई कंबाला रेस के बाद श्रीनिवास गौड़ा सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बन गए हैं। श्रीनिवास गौड़ा ने 13.62 सेकंड में 142.50 मीटर दूरी ( इसका मतलब 100 मीटर की दूरी सिर्फ और सिर्फ 9.55 सेकंड में) तय की। मीडिया खबरों के अनुसार, ऐसा कर वह कर्नाटक के पारंपरिक खेल में इतिहास के सबसे तेज धावक बन गए हैं। उन्होंने इस रेस का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा है।

Image Source: Social Media

रिकॉर्ड टूटने और बनने के इस क्रम में चारों तरफ श्रीनिवास के ही चर्चे हैं। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि इस दौड़ के दौरान श्रीनिवास ने Usain Bolt का 100 मीटर फर्राटा दौड़ का वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ दिया है। दावे के मुताबिक गौड़ा ने 100 मीटर की दूरी 9.95 सेकेंड में पूरी की है जो Usain Bolt के वर्ल्ड रिकॉर्ड के वक्त से 0.03 सेकंड कम है। मामले पर अब खेल मंत्री का बयान सामने आया है। साथ ही बिजनेस टाइकून आनंद महिंद्रा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

आनंद महिंद्रा ने किया यह ट्वीट

Image Source: Social Media

श्रीनिवास का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो को महिंद्रा ग्रुप के चैयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी शेयर किया है, जिसके बाद खेल मंत्री किरण रिजिजू ने श्रीनिवास को ट्रायल के लिए बुलाने का फैसला किया है।

Image Source: Social Media

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘एक बार इस खिलाड़ी के शरीर को देखिए यह एथलेटिक्स में काफी कुछ कर सकता है। अब या तो खेल मंत्री किरेन रिजिजू उन्हें ट्रेनिंग दें या हम कंबाला जॉकी को ओलिंपिक में शामिल करें, जो भी हो हम श्रीनिवासन के लिए गोल्ड मेडल चाहते हैं।’

मामले पर खेल मंत्री का बयान सामने आया है

Image Source: Social Media

गौड़ा के वीडियो को लोग सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं और खेल मंत्री को लगातार टैग कर रहे हैं। इसके बाद अब केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट किया है और श्रीनिवास को ट्रायल के लिए बुलाए जाने की बात कही है।

किरेन रिजिजू ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘मैं SAI कोचों के द्वारा कर्नाटक के श्रीनिवास गौड़ा को ट्रायल के लिए बुलाऊंगा, एथलेटिक्स में ओलंपिक के मानकों के बारे में लोगों में ज्ञान की कमी है, लेकिन मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि भारत की कोई भी प्रतिभा छूट ना जाए।

रिजिजू ने इसके बाद एक और ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि SAI ने श्रीनिवास से बात की है। उनका रेल टिकट भी करा दिया गया है। सोमवार को उनका SAI सेंटर पर ट्रायल किया जाएगा। रिजिजू ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार हर तरह से खिलाड़ियों के लिए काम करना चाहती है।

उसैन बोल्ट से भी तेज दौड़ा यह युवक

Image Source: Social Media

कर्नाटक के युवक श्रीनिवास गौड़ा ने पारंपरिक भैसों की रेस में 13.62 सेकंड में 142.50 मीटर की रेस पूरी की है। यानि 100 मीटर की दूरी सिर्फ 9.55 सेकंड में पूरी की है। कर्नाटक के युवक की एक खास बात और है कि उसैन बोल्ट ने अपना रिकॉर्ड सूखी जमीन पर दौड़कर बनाया था, जबकि श्रीनिवास ने यह रिकॉर्ड पानी भरे खेत में भैसों के जोड़े के साथ दौड़कर बनाया है। वीडियो में श्रीनिवास भैंसों के जोड़े के साथ भागते हुए देखे जा सकते हैं।

Image Source: Social Media

जानकारी के मुताबिक श्रीनिवास कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले के मोडाबिद्री इलाके के रहने वाले हैं। श्रीनिवास ने यह रिकॉर्ड एक भैंसा दौड़ में बनाया जिसे कंबाला नाम से बुलाया जाता है। दौड़ जीतने के बाद श्रीनिवास ने कहा कि पारंपरिक खेल में रिकॉर्ड बनाकर मुझे काफी तारीफ मिल रही है। मुझे कंबाला पसंद है। इसका श्रेय मेरे दोनों भैंसों को जाता है। वे बहुत तेज दौड़े और मैं उनके पीछे-पीछे लगातार दौड़ता रहा।

उसैन बोल्‍ट का रिकॉर्ड

Image Source: Social Media

जमैका के रहने वाले उसैन बोल्ट को दुनिया का सबसे तेज एथलीट माना जाता है। बोल्ट ने 100 मीटर, 200 मीटर और 4*100 रिले दौड़ में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना रखा है। बोल्ट ने 11 बार दौड़ में विश्व चैंपियन होने का रिकॉर्ड बनाया है।

क्या है कंबाला रेस?

Image Source: Social Media

कंबाला रेस या बफेलो रेस कर्नाटक का पारंपरिक खेल है। मंगलौर और उडूपी में यह काफी प्रचलित है। कई गांवों में इस खेल का आयोजन होता है। इस दौरान कीचड़ वाले इलाके में युवा जॉकी दो भैंसों के साथ दौड़ लगाते हैं। जानवरों के संरक्षण के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं ने कुछ साल पहले कंबाला के खिलाफ मोर्चा खोला था।

उनका आरोप था कि जॉकी बल प्रयोग कर तेज दौड़ने के लिए भैंसों को मजबूर करता है। इसके बाद पारंपरिक खेल पर रोक लगा दी गई थी। हालांकि, मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की अगुआई में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने इस खेल को जारी रखने के लिए बिल पारित कराया था।

Image Source: Social Media

उधर सोशल मीडिया पर यूजर श्रीनिवास को काफी तारीफ मिल रही है। यहां तक कि यूजर्स उन्हें ओलिंपिक में भेजने की मांग कर रहे हैं, उनका कहना है कि सरकार श्रीनिवास को ट्रेनिंग दिलाने की व्यवस्था करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here