30 साल में 3 लाख पौधे लगा चुका हैं ये बस कंडक्टर, जानिए बस कंडक्टर योगनाथन की पूरी कहानी

0
416

दिल को छू लेने वाली यह प्रेरणादायी कहानी चेन्नई के कोयंबटूर में रहने वाले मारीमुत्थू योगनाथन की है, जिन्होंने काफी लंबे समय से सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बटोरी है। वह पेशे से एक बस कंडक्टर है, लेकिन यह जिस वजह से चर्चाओं में है। वह है इनके पेड़ पौधों के लगाने का शौक और वातावरण को स्वच्छ रखने की दिलचस्पी।

Social Media

बस कंडक्टर योगनाथन को पेड़ पौधों से खासा लगाव है। ऐसे में उन्होंने अकेले ही एक शानदार पहल शुरू की, जिसके साथ काफी लोग जुड़े। बीते 30 सालों में योगनाथन 3 लाख से ज्यादा पेड़ लगा चुके हैं। हैरान करने वाली बात यह है कि वह अपने इस शौक को पूरा करने के लिए बस कंडक्टर के तौर पर मिलने वाली अपनी तनख्वाह तक का इस्तेमाल करते हैं।

Social Media

30 सालों के अपने इस सफर में तीन लाख से ज्यादा पेड़ लगा चुके हैं। उनका कहना है कि अगर हम समाज को सुधारने और पर्यावरण को साफ-सुथरा रखने का प्रण कर ले तो कोई राह मुश्किल नहीं है। वह सड़कों के किनारे भी पेड़ पौधे लगाते हैं, लेकिन उन्हें अपने आसपास के वातावरण को साफ सुथरा रखना भी बेहद पसंद है।

मालूम हो कि कक्षा 5वी की जनरल नॉलेज की किताब में योगनाथन को ग्रीन योद्धा के नाम से प्रसिद्धी हासिल है। पौधे लगाने के अलावा योगनाथन ने वन्य जीव को बचाने और युवाओं के संरक्षण के बारे में भी जागरूक करने की भी मुहिम चलाई। वह पर्यावरण के बारे में लंबे समय से लोगों के जागरूक कर रहे हैं।

Social Media

योगनाथन 12वीं पास है और पिछले 30 सालों से पौधे लगाने का काम कर रहे हैं। वही अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि- मैं नागपट्टिनम के पास मइलादुथुरई का मूल निवासी हूँ। जब मैंने अपनी स्कूल की पढ़ाई की तब मैं वहां नीलगिरी डिस्टि्रक मैं एक सेल्समैन का काम करता था। वहां मैंने नीलगिरी की सुंदरता से बहुत कुछ सीखा और उसे आगे बढ़ाने की कोशिश की।

Social Media

तमिलनाडु ग्रीन मूवमेंट के जयचंद्रन ने उनमें क्रूसेडर का विकास पैदा किया और इस काम को जारी रखने में उनका समर्थन भी किया। आज उनके इस काम की सराहना देश के कई नेता-अभिनेता और बड़े आलाधिकारी भी कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here