क्या आप जानते हैं ईयर के नीचे सिक्कों में डॉट, स्टार, डायमंड चिन्ह क्यों बने होते हैं?

0
319
history-of-coin-meaning-of-shape-printed-on-indian-coins

भारत में आजादी के बाद चलन में आए सिक्कों का अपना इतिहास है। मौजूदा समय में सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के चलते आप नोट पहचानने की कई ट्रिक्स जानते होंगे, लेकिन क्या आप जानते हैं भारतीय सिक्कों में भी कई राज छुपे होते हैं। आप सिक्के को देखकर ही कई चीजें पता कर सकते हैं। आज हम आपको सिक्के पर बने उन चिह्नों के बारे में बता रहे हैं, जिससे आप पता लगा सकते हैं कि सिक्का कहां से आया है…

Image Source- Google

सिक्कों के बारें में बारिकी से बात करने से पहले हम आपकों बता दें कि कि भारतीय सिक्के टकसाल में बनते हैं। अब आप सोचेंगे टकसाल क्या है? बता दें टकसाल वह सरकारी कारखाना होता है, जहां सरकार के आदेश और बाजार की मांग को देखते हुए सिक्कों को ढाला जाता है और इसे मिंट भी कहते हैं। भारत में चार टकसाल मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद और नोएडा हैं।

मालूम हो कि हर टकसाल में बने सिक्के की एक अलग पहचान होती है और आप एक सिक्के को देखकर ही यह पता कर सकते हैं कि यह किस टकसाल या मिंट में बना है। बता दें कि हर सिक्के में नीचे की तरह एक शेप बनी होती है, यह टकसाल के बारे में बताती है।

  • मुंबई – हीरा
  • कोलकाता – कोई निशान नहीं
  • हैदराबाद – सितारा
  • नोएडा – डॉट
Image Source- Google

बात मौजूदा समय की करें तो हमारे देश में मौजूदा समय में 2000, 500, 200, 100, 50, 20, 10, 5, 2 और 1 रुपये के नोट चलन में हैं। इसके अलावा देश में 1, 2, 5, 10, 20 रुपये के सिक्के भी प्रचलन में हैं। हम दिन भर में कई बार सिक्कों में लेनदेन करते रहते हैं, लेकिन क्या आपने कभी सिक्कों पर अंकित ख़ास चिह्नों पर गौर किया है?

Image Source- Google

हम बात कर रहे है सिक्कों पर बने उस खान चिन्ह की जिस पर शायद ही आपने ध्यान दिया हो। दरअसल हर सिक्के पर उसका प्रोडक्शन साल लिखा होता है। इसके ठीक नीचे ‘डॉट’, ‘स्टार’ या फिर ‘डायमंड’ जैसे निशान दिखाई दे रहे होंगे। क्या आप जानते हैं इनका क्या मतलब होता है?

Image Source- Google

दरअसल, सिक्के पर अंकित ‘ईयर ऑफ़ प्रॉडक्शन’ के ठीक नीचे दिखाई देने वाले ये अलग-अलग चिह्न इस बात की ओर इशारा करते हैं कि ये देश के किस शहर में बने हैं। देश में सिक्के बनाने के लिए चार टकसाल (मिंट) बनाए गए हैं। इन टकसालों में सबसे पुराने मिंट कलकत्ता और मुंबई है। इसकी स्थापना 1859 में अंग्रेजी हुकूमत में हुई थी।

Image Source- Google

ये हैं भारत के चार टकसाल

मुंबई टकसाल

मुंबई टकारल भारत की सबसे पुरानी मिंट में से एक है। इसका निर्माण अंग्रेजों ने किया था। उस वक्त भी मुंबई अंग्रेजों के आर्थिक पहलुओं के लिहाज से अच्छा क्षेत्र था।

कलकत्ता टकसाल

इस मिंट की शुरुआत भी अंग्रेजों ने की और साल 1859 में पहली बार इस टकसाल में सिक्कों का निर्माण किया गया था।

हैदराबाद टकसाल

हैदराबाद मिंट साल 1903 में हैदराबादी निजाम की सरकार ने स्थापित किया था। साल 1950 में भारत सरकार ने इसे अपने अधिकार में ले लिया था।

नोएडा टकसाल

नोएडा मिंट को 1986 में स्थापित किया गया था और 1988 से यहां स्टेनलेस स्टील के सिक्कों का निर्माण हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here