घर के नाम पर झोपड़ी, पति हैं मजदूर, चर्चा में बीजेपी विधायक बनीं चंदना बाउरी की जीत

0
459
bjp-chandna-bauri-won-against-tmc-candidate-her-husband-works-as-daily-wage-worker

पश्चिम बंगाल के चुनाव को लेकर मची खलबली अब शांत हो गई। परिणामों से पर्दा उठ गया है। ऐसे में जहां एक ओर कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है, तो वही टीएमसी ने एक बार फिर से बंगाल में बाजी मारी है। चुनाव में टीएमसी ने एक बार फिर से अपने जलवे बिखेरे और पार्टी लगातार तीसरी बार राज्य की सत्ता में काबिज होने जा रही है।

Social Media

इस चुनाव में भले ही टीएमसी ने एक बार फिर से बाजी मारी हो, लेकिन टीएमसी के कई दिक्कत मार खा गए हैं जिनको लेकर लगातार चर्चा बनी हुई है। हारने वालों की इस लिस्ट में सीएम ममता बनर्जी का नाम भी शामिल है। वही हार जीत के इन नामों में एक नाम ऐसा है जो इन दिनों खासा चर्चाओं का विषय बना हुआ है, जिसकी जीत को लेकर हर कोई हैरान है। हम बात कर रहे हैं पश्चिम बंगाल की सालतोरा सीट की नई नवेली विधायक बनी चंदना बाउरी की…

Social Media

चंद्र बावरी आज के उन नेताओं से बिल्कुल अलग है जो पैसों के दम पर चुनाव लड़ते हैं। जिनके पास लग्जरी गाड़ियां, घर, बंगले, पैसा सब कुछ होता है। भारतीय जनता पार्टी के नेता सुनील देवघर ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है कि चंद्र बाउरी एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है। वह एक दिहाड़ी मजदूर की पत्नी है। चंदना बाउरी की उम्र भर की जमा पूंजी 31 हजार 985 रूपये है।

Social Media

चंदना बावरी मौजूदा समय में भी एक झोपड़ी में रहती है। संपत्ति के तौर पर उनके पास तीन बकरियां और गाय है। वह अनुसूचित जाति से संबंध रखती हैं। बता दें बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने मैदान में उतरी चंदना बावरी ने सालतोरा सीट पर टीएमसी के संतोष कुमार मोंडल को मात दी है।

Social Media

मालूम हो कि चुनावी मुकाबले में चंदना बावरी ने 91,648 वोट हासिल किए हैं, जबकि टीएमसी प्रत्याशी को 87,503 वोट मिले। इस तरह चंदना ने 4,145 वोटों से संतोष कुमार मोंडल को मात दी है। बता दें इसी सीट से तीसरे नंबर पर सीपीआई (एम) के प्रत्याशी नंदलाल बाउरी रहे हैं। उन्हें महज 14,084 वोट मिले हैं। जबकि नोटा के बटन पर 3,363 लोगों ने मोहर लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here