शादी के 54 साल बाद 74 साल की उम्र में मां बनी महिला, दिया जुड़वां बच्चों को जन्म

0
523
a women gave birth to twin babies at age of 74 years

ये अपनी तरह का विचित्र मामला है। 74 साल की एक महिला ने अपनी शादी के 54 साल बाद मां बनने का सुख पाया है। विज्ञान और मां की ममता से जुड़ी एक ऐसी अनोखी कहानी सामने आई है जो आपको हैरान कर देगी। आंध्र प्रदेश में 50 साल से भी अधिक समय से मां बनने का इंतजार कर रही एक महिला ने 74 वर्ष की आयु में जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया है। कहा जा रहा है कि ज्यादा उम्र में मां बनने का यह विश्व रिकॉर्ड World Record बनने जा रहा है। खबर को सुनकर लोग हैरान हैं और तरह तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में द्रक्षरमम की ई मंगयम्मा ने गुंटुर के एक निजी अस्पताल में आईवीएफ (इन-विट्रो फर्टिलाइजेशन) तकनीक से जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया। यह सुनने में अजीब लग रहा हो, लेकिन यह विज्ञान का चमत्कार है। बता दे, मंगयम्मा का विवाह साल 1962 में ई राजा राव के साथ हुआ था। हाल ही में जब उनके पड़ोस में रहने वाली एक महिला ने 55 साल की आयु में कृत्रिम गर्भाधान के रास्ते से बच्चे को जन्म दिया।

इसके बाद मंगयम्मा को भी लगा की यह रास्ता उनके लिए भी फलदायक हो सकता है और उन्होंने आईवीएफ तकनीक का इस्तेमाल करने का विचार बनाया। मीडिया खबरों के अनुसार, येरामती और राजाराव गुंटूर के नेलापारथीपाडु इलाके में रहते आए हैं। इनका विवाह 22 मार्च 1962 को हुआ था। हर शादीशुदा जोड़े की तरह एरामती मंगयाम्मा और उनके पति ने भी शादी के बाद संतान के लिए प्रयास किया लेकिन संतान नहीं हुई।

काफी कोशिशों के बाद वो निराश हो गए और मां बाप बनने का उनका सपना टूट गया था कि इस उम्र में आकर इस कपल के साथ मानों चमत्कार हो गया। पड़ोस में रहने वाली 55 साल की एक महिला आईवीएफ तकनीक के जरिए मां बनी थी और इसी बात से मंगयाम्मा के भीतर मां बनने की ख्वाहिश ने फिर जोर मारा। मंगयाम्मा अपने पति के साथ गुंटूर जिले में निजी अस्पताल अहिल्या नर्सिंग होम गई और वहां आईवीएफ एक्सपर्ट डॉक्टर संकयाला उमाशंकर से मिलीं।

खबरों के मुताबिक इसके बाद डॉक्टरों ने येरामती राजा राव के स्पर्म एकत्र किए और आईवीएफ तकनीक के जरिए काम शुरू किया। खुद डॉक्टरों को विश्वास नहीं था कि इतनी उम्र में गर्भाधान हो पाएगा या नहीं। लेकिन डॉक्टरों की मेहनत रंग लाई और मंगयाम्मा गर्भवती हो गई। उसके बाद एहतियातन मंगयाम्मा लगातार उसी नर्सिंग होम में डाक्टरों की निगरानी में रही।

डॉक्टरों का कहना है कि यह एक विश्व रिकॉर्ड हो सकता है। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक अब तक सबसे अधिक उम्र में मां बनने का रिकॉर्ड स्पेन की एक महिला के पास है, जिसने 66 साल की आयु में बच्चे को जन्म दिया था। वंही इंडिया टीवी की खबरों के मुताबिक ऐसा ही एक मामला पंजाब के अमृतसर की दलजिंदर कौर के नाम था जिन्होंने 72 साल की उम्र में बच्चे को जन्म दिया था।

अस्पताल के निदेशक डॉ. उमाशंकर ने बताया कि मंगयम्मा ने आईवीएफ तकनीक से मां बनने के लिए पिछले साल उनसे संपर्क किया था। इस साल जनवरी में उन्होंने गर्भधारण किया। आज उन्होंने जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया है, दोनों स्वस्थ हैं। मंयगम्मा आईसीयू में है। जच्चा बच्चा की देख रेख के लिए डॉक्टर पूरी तरह मुस्तैद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here