बाबा की अंतिम इच्छा पूर्ति करने पोते ने किया कुछ ऐसा, कि भीड़ देख प्रशाशन का छूट पड़ा पसीना

0
114
aircraft engineer brought his bahuria to the village by helicopter

उन्नाव के एक गांव में सोमवार सुबह बेहद दिलचस्प नजारा देखने को मिला। गांव का एक बेटा शादी कर अपनी दुल्हन को हेलीकॉप्टर से लेकर पहुंचा तो नवविवाहिता का स्वागत करने के लिए परिजनों के साथ आसपास के गांव वाले भी पहुंच गए। नई बहू को हेलीकॉप्टर से उतरते हुए देखने का आलम यह था कि सुबह से गांव के लोग खेत में हेलीपैड के पास पहुंचने लगे।

लेकिन दूल्हे को उस समय मुश्किल का सामना करना पड़ा, जब एसडीएम और सीओ ने पायलट को धमकाकर जबरन हेलिकॉप्टर उड़ान का आनंद लिया। वहीं, हसनगंज के एसडीएम प्रदीप कुमार वर्मा ने कहा कि धमकाने जैसी बातें बिल्कुल बेबुनियाद हैं। हेलिकॉप्टर लैंडिंग के लिए अनुमति लेने आए व्यक्ति ने खुद ही गुजारिश की थी कि वे हेलिकॉप्टर में चढ़ें।

पोते ने पूरी की बाबा की अंतिम इच्छा

Image Source: Social Media

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हसनगंज थानाक्षेत्र के मुशेपुर गांव निवासी रवि यादव की शादी जबलपुर की प्रियंका से तय हुई थी। पेशे से एयरक्राफ्ट इंजिनियर रवि कतर में जॉब करते हैं। कई साल पहले दम तोड़ चुके रवि के बाबा ने इच्छा जताई थी कि रवि की दुल्हन हेलिकॉप्टर से घर आए। शनिवार को रवि की शादी लखनऊ के एक फार्म हाउस में हुई थी। रविवार दोपहर को रवि अपनी पत्नी प्रियंका को लेकर हेलिकॉप्टर से मूसेपुर गांव आए।

Image Source: Social Media

जब दोपहर में हेलीकॉप्टर उतरा तो लोगों ने गर्मजोशी के साथ दूल्हा-दुल्हन का स्वागत किया। बाबा घनश्याम सिंह का सपना पूरा करने के लिए हेलीकॉप्टर से अपनी दुल्हन को लेकर गांव पहुंचा तो उसे देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। पूरा गांव बहू के स्वागत के लिए एकत्र हो गया। रवि ने बताया कि उनके बाबा रेलवे में कर्मचारी थे।

गांववालों ने इस तरह किया नवविवाहिता का स्वागत

Image Source: Social Media

रवि ने हाई स्कूल से लेकर इंटर की पढ़ाई हसनगंज के इंटर कॉलेज से कि उसके बाद लखनऊ स्थित हिंदुस्तान एकेडमी से 3 साल का एयरक्राफ्ट इंजीनियरिंग का कोर्स किया। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय से जब रवि के चयन की सूचना बाबा घनश्याम सिंह को मिली तो बहुत खुश हुए।

Image Source: Social Media

उन्होंने कहा कि अब मेरा पोता हवाई जहाज से बहुरिया लाएगा। अधिक प्रसन्नता से रिजल्ट अखबार में पढ़ने के 8 घंटे बाद ही हार्ट अटैक से बाबा की मौत हो गई। इस बात की जानकारी हुई तो रवि लखनऊ से सीधा घर आए और प्रण लिया कि शादी करेंगे तो उनकी दुल्हन हेलीकॉप्टर से ही गांव आएगी। बाबा की इच्छा पूरी करने के लिए रवि हेलीकॉप्टर से दुल्हन को लेकर गांव पहुंचा। हेलिकॉप्टर से मूसेपुर गांव नवविवाहिता को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। पूरा गांव बहू के स्वागत के लिए एकत्र हो गया।

हैलीपैड पर पूरी की रस्में

Image Source: Social Media

उसके बाद रवि की नौकरी एयरक्राफ्ट इंजीनियर के पद पर हो गई। वहीं पर दोनों की मुलाकात हुई। प्रियंका और रवि दोनों एक ही पद पर तैनात हैं। प्रियंका मूल रूप से जबलपुर मध्य प्रदेश की रहने वाली है। रवि अपनी दुल्हन प्रियंका को लेकर मूसेपुर आएं जहा देखने को लेकर आस पास के आधा दर्जन गांवों से देखने को पहुंचे।

हेलिकॉप्टर 12 बजकर 32 मिनट पर गांव के बाहर प्रधान आशीष तिवारी के खेत में उतारा गया। जहां ग्रामीणों का देखने का तांता लग गया। रवि के पिता राम किशोर यादव माता कमलेश कुमारी, बहन निधि यादव, छोटा भाई अभिषेक यादव हेलीपैड पर पहुंचे और बहू को उतार कर घर ले गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here